देवकीनंदन ठाकुर जीवनी / devkinandan thakur biography in hindi/ devkinandan Thakur Ji contact number

देवकीनंदन ठाकुर कोन है ? इनका जन्म स्थान कहा है? क्या करते है? शिक्षा कहा से प्राप्त की। 

Shree Devkinandan Thakur Ji Maharaj

देवकीनंदन ठाकुर जी की जीवनी की बात करने जा रहे है हम। अगर आप भी भगवान की भक्ति या फिर आध्यात्मिक गीत सुनते है। तो आपने कभी न कभी श्री देवकीनंदन ठाकुर जी के बारे में अवश्य सुना होगा। देवकीनंदन ठाकुर जी महराज श्रीमद् भागवत महापुराण की कथा वाचते है।

इस लेख के माध्यम से आज हम श्री देवकीनंदन जी के जीवन के बारे में आपके साथ महत्वपूर्ण जानकारी साझा करना चाहते है। महाराज जी के जन्म से लेकर उनके बालपन और उनके युवा होने तक की सभी जानकारी आज आपसे साझा करने वाले है। महाराज के जीवन से जुड़ी हर कड़ी को हम आपके सामने प्रस्तुत कर रहे है।

Shri Devkinandan Thakur Ji ka janm 

श्री देवकीनंदन ठाकुर जी महाराज जी का जन्म 12 सितंबर 1978 में उत्तर प्रदेश के मथुरा शहर के ओहावा ग्राम में हुआ था। महाराज जी का जन्म एक ब्राह्मण कुल में हुआ था। कुछ पल महाराज के उनके गांव में बीता था। 5 साल की उम्र तक वो गांव में रहे ।

6 साल की छोटी से उम्र में वो घर छोड़ कर वृन्दावन चले गए। और वहा पर वो एक नाटक मंडली में सामिल हो गए और । वे वहा पर रामलीला, और रासलीला का नाटक प्रस्तुत किया करते थे। महाराज नाटक में कृष्ण और भगवान श्री रामचंद्र का किरदार निभाया करते थे।

ठाकुर जी ने अपनी 10 वर्ष की आयु में दीक्षा ले ली थी। उन्होंने निंबार्क संप्रदाय के गुरु- शिस्य की परंपरा के तहत दीक्षा प्रदान की थी। और श्रीमद् भागवत महापुराण कथा का अध्ययन किया करते थे। और कथा भी वांचते थे।

यह भी पढ़े        बागेश्वर धाम महाराज श्री धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री जी की जीवनी

श्रीमद् भागवत महापुराण की कथा 

वृंदावन से आध्यात्मिक अध्ययन करने के बाद ठाकुर जी दिल्ली आ गए। दिल्ली में  शाहदरा में श्रीमद् भागवत महापुराण का उपदेश देते थे। वही एक राम मंदिर में भागवत महापुराण का उपदेश जन जन तक पहुंचाते थे।

ठाकुर जी देश विदेश में राम कथा और भागवत पुराण और धर्म के  प्रचार प्रसार किया करते थे। महाराज ने विश्व शांति का प्रसार करने के लिए विश्व शांति चैरिटेबल ट्रस्ट की शुरुआत की।

Shri devkinandan Thakur Ji biography

विदेशों में भागवत महापुराण कथा

देवकीनंदन ठाकुर जी ने देश ही नहीं बल्कि विदेशों में भी श्रीमद् भागवत महापुराण की कथा का प्रवचन दिया है। ठाकुर जी ने हांगकांग में सबसे पहले श्रीमद् भागवत महापुराण की कथा का प्रवचन दिया था।

हांगकांग के आलावा ठाकुर जी हॉलैंड, स्वीडन, नॉर्वे, डेनमार्क, थाईलैंड, मलेशिया, सिंगापुर, और अमेरिका जैसे देशों में भागवत महापुराण की कथा का प्रवचन कर चुके है। जो की एक बहुत बड़ी उपलब्धि है।

यूपी रत्न पुरुस्कार से सम्मानित

Devkinandan Thakur Ji up Ratna award

देवकीनंदन ठाकुर जी महाराज को हमारे देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी , हेमा मालिनी, और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी के द्वारा उनके धार्मिक कार्यों के लिए सराहा है। और 2015 उनके धर्म कार्यों की वजह से उन्हें यूपी रत्न पुरुस्कार से सम्मानित किया गया था।

Devkinandan Thakur contact number 

अगर आप भी देवकीनंदन ठाकुर जी महराज से कथा करवाने के इच्छुक है तो फोन करके इन्फॉर्मेशन ले सकते है।Devkinandan Thakur Ji contact number 7351113331.  आप दिए गए नंबर पर संपर्क कर सकते है। 

यह सब भी पढ़ें link
बागेश्वर धाम के रहस्य का खुलासा हो गया Click Here
बागेश्वर धाम के आविश्वशनीय चमत्कार Click Here
बागेश्वर की आगामी कथा की लिस्ट Click Here
बागेश्वर धाम का हैरान करने वाला इतिहास Click Here
बागेश्वर धाम में अर्जी कैसे लगाई जाती है Click Here
बागेश्वर धाम में टोकन कब और कैसे मिलेगा Click Here
धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री जीवनी हिंदी में Click Here
धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री बायग्राफी अंग्रेजी में Click Here
बागेश्वर धाम फेमस कैसे हुआ Click Here
bageshwar dham contact number Click Here

1 thought on “देवकीनंदन ठाकुर जीवनी / devkinandan thakur biography in hindi/ devkinandan Thakur Ji contact number”

Leave a Comment